शिवकुमार शर्मा का जीवन परिचय | ShivKumar Sharma Biography in Hindi

शिवकुमार शर्मा का जीवन परिचय, जीवनी, बायोग्राफी, मशहूर संतूर वादक पंडित शिव कुमार शर्मा, मृत्यु, मौत की वजह, परिवार, शिवकुमार शर्मा संतूर वादक ख़बर (Who is ShivKumar Sharma?, ShivKumar Sharma Biography in Hindi, ShivKumar Sharma Passed Away, Latest News, ShivKumar Sharma Santoor Vadan, Awards, Family, Age)

पंडित शिवकुमार शर्मा का जन्म 13 जनवरी 1938 को जम्मू, भारत में हुआ था। शिवकुमार शर्मा भारत के मशहूर संतूर वादक थे‌। जिनका निधन 10 मई 2022 को हो गया।

शिवकुमार शर्मा संतूर के साथ-साथ एक अच्छे गायक भी थे। 13 वर्ष की अवस्था में शिवकुमार ने संतूर बजाने में महारथ हासिल कर ली थी। इनका पहला कार्यक्रम बंबई में 1955 को हुआ था।

Contents hide

शिवकुमार शर्मा का जीवन परिचय (ShivKumar Sharma Biography in Hindi)

ShivKumar Sharma Biography in Hindi
नाम (Name)शिवकुमार शर्मा
उपनाम (Nickname)पंडित शिवकुमार, संतूर वादक शिवकुमार शर्मा
उम्र (Age)84 वर्ष
जन्म तारीख (Date of birth)13 जनवरी 1938
जन्म स्थान (Place of born )जम्मू, भारत
शिक्षा (Education )ज्ञात नहीं
गृहनगर (Hometown)जम्मू, भारत
ऊंचाई (Height)6 फीट 1 इंच
आँखों का रंग (Eye Color)काला
बालो का रंग( Hair Color)ग्रे
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
राशि (Zodiac)मकर राशि
डेब्यू (Debut)फिल्म- झनक झनक पायल बाजे (संतूर वादक)
मरने की तारीख (Date of Death)10 मई 2022
मरने का कारण (Death Reason)कार्डियक अरेस्ट
पेशा (Profession)भारतीय शास्त्रीय संगीतकार
संतूर वादक
वैवाहिक स्थिति (Marital Status)विवाहित

शिवकुमार शर्मा कौन है ? (Who is ShivKumar Sharma?)

पंडित शिवकुमार शर्मा का जन्म 13 जनवरी 1938 को जम्मू, भारत में हुआ था। शिवकुमार शर्मा भारत के मशहूर संतूर वादक और अच्छे गायक थे‌। जिनका निधन 10 मई 2022 को हो गया।

शिवकुमार शर्मा प्रारंभिक जीवन, शिक्षा (ShivKumar Sharma Early Life, Education)

ShivKumar Sharma Biography in Hindi

जम्मू, भारत में जन्मे पंडित शिवकुमार शर्मा का जन्म 13 जनवरी 1938 को हुआ था। उन्होंने 5 वर्ष की अवस्था में तबला और गायन की शिक्षा लेना आरंभ कर दी थी। लेकिन शिवकुमार के पिता चाहते थे की वह एक संतूर वादक बने इसलिए उन्होंने 13 वर्ष की अवस्था में संतूर सीखने शुरू कर दिया था।

शिवकुमार शर्मा परिवार, पिता, माता, पत्नी (ShivKumar Sharma Family, Father, Mother, Wife)

पंडित शिवकुमार शर्मा ने मनोरमा नाम की महिला से शादी की और उनके दो बेटे हैं जिसमें से एक का नाम राहुल है। राहुल ने भी 13 वर्ष की उम्र से संतूर सीखना शुरू कर दिया है।

पिता का नाम (Father)पंडित उमा दत्त
माता का नाम (Mother)ज्ञात नहीं
भाई का नाम (Brother)ज्ञात नहीं
बहन  का नाम (Sister)ज्ञात नहीं
पत्नी का नाम (Wife)मनोरमा शर्मा
बेटे (Children)राहुल और रोहित (दो बेटे)

पंडित शिवकुमार शर्मा करियर (Pandit ShivKumar Sharma Carrier)

  • संतूर एक लोकप्रिय शास्त्रीय वाद्य यंत्र बनने का श्रेय केवल शिवकुमार शर्मा को जाता है।
  • शिवकुमार ने पहली बार 1956 में फिल्म झनक झनक पायल बाजे के लिए एक संगीत रचना की।
  • साल 1960 को शिवकुमार ने अपना पहला एल्बम रिकॉर्ड भी किया।
  • साल 1967 में उन्होंने बांसुरी वादक हरिप्रसाद चौरसिया और गिटार वादक बृज भूषण काबरा के साथ मिलकर एक एल्बम, कॉल ऑफ द़ वैली का निर्माण किया जो भारतीय संगीत में सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक थी।
  • साल 1980 में सिलसिला से इनकी लोकप्रियता बढ़ने लगी जिसके बाद शिव-हरि संगीत की जोड़ी के रूप में दुनिया इनको जानने लगी।
  • इन्होंने कई फिल्मों में संगीत दिए जैसे की फासले (1985), चांदनी (1989), लम्हे (1991), डर (1993)।

शिवकुमार शर्मा एल्बम (ShivKumar Sharma Album, Discography)

  • शर्मा, पं शिवकुमार- द ग्लोरी ऑफ स्ट्रिंग्स- संतूर (1991)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- राग भोपाली (1993)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- राग केदारी (1993)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- हंड्रेड स्ट्रिंग्स ऑफ संतूर (1994)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- हिप्नोटिक संतूर (1994)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- पॉयनियर ऑफ संतूर (1994)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- राग बिलासखानी तोड़ी (1994)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- संतूर (1998)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- द इनर पाथ (2004)
  • शर्मा, पं शिवकुमार- सिम्पैटिको (2004)

पंडित शिवकुमार शर्मा पुरस्कार (Pandit ShivKumar Sharma Awards)

  • द कॉल ऑफ द वैली (प्लेटिनम डिस्क)
  • सिलसिला, हिन्दी फिल्म (प्लेटिनम डिस्क)
  • फासले, हिंदी फिल्म (प्लेटिनम डिस्क)
  • चांदनी, हिंदी फिल्म (प्लेटिनम डिस्क)
  • लम्हे, हिंदी फिल्म (विशिष्ट पुरस्कार)
  • डर, हिंदी फिल्म (विशिष्ट पुरस्कार)

शिवकुमार शर्मा मौत का कारण (Death Reason of ShivKumar Sharma)

शिवकुमार शर्मा का निधन 10 मई 2022 को 84 वर्ष की आयु में, कार्डियक अरेस्ट के कारण हो गई।

शिवकुमार शर्मा से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (ShivKumar Sharma Facts in Hindi)

  • शिवकुमार शर्मा ने 5 वर्ष की उम्र से ही तबला और गायिकी का अभ्यास अपने पिता के कहने पर शुरू कर दिया था।
  • 13 साल की उम्र में, उनके पिता ने ‘संतूर’ नामक वाद्य यंत्र पर बहुत शोध किया और उन्होंने संतूर पर भारतीय शास्त्रीय संगीत बजाने वाला पहला संगीतकार बनाने का फैसला किया।
  • 1955 में, उन्होंने मुंबई में अपना पहला सार्वजनिक प्रदर्शन दिया।
  • संगीत के प्रति इतना दृढ़ है कि कोई संस्थागत या सरकारी समर्थन के बावजूद, वह गुरु शिष्य परंपरा के अनुसार पढ़ा रहा है, अपने छात्रों से कोई शुल्क नहीं ले रहा है, जो भारत के कोने-कोने से और साथ ही देश के विभिन्न हिस्सों से उनके पास आते हैं। जापान, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका जैसी दुनिया।
  • उनके बेटे राहुल शर्मा भी संतूर वादक हैं और ज्यादातर समय अपने पिता के साथ विभिन्न प्रदर्शनों के लिए जाते हैं।
  • 1967 में, उन्होंने बांसुरीवादक हरिप्रसाद चौरसिया और बृज भूषण काबरा के साथ मिलकर एक कॉन्सेप्ट एल्बम, कॉल ऑफ़ द वैली का निर्माण किया, जो भारतीय शास्त्रीय संगीत की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक थी।

शिवकुमार शर्मा नेट वर्थ (ShivKumar Sharma Net Worth)

शिवकुमार शर्मा की संपत्ति लगभग $6 मिलीयन अमेरिकी डॉलर (2021) है।

FAQ

शिवकुमार शर्मा कौन है?

पंडित शिवकुमार शर्मा का जन्म 13 जनवरी 1938 को जम्मू, भारत में हुआ था। शिवकुमार शर्मा भारत के मशहूर संतूर वादक और अच्छे गायक थे‌। जिनका निधन 10 मई 2022 को हो गया।

शिवकुमार शर्मा की मौत कब हुई?

10 मई 2022

शिवकुमार शर्मा का जन्म कब हुआ था?

13 जनवरी 1938

शिवकुमार शर्मा का जन्म कहां हुआ था?

जम्मू, भारत

शिवकुमार शर्मा की मौत कैसे हुई?

कार्डियक अरेस्ट

शिवकुमार शर्मा की कुल संपत्ति क्या है?

शिवकुमार शर्मा का निधन 10 मई 2022 को 84 वर्ष की आयु में, कार्डियक अरेस्ट के कारण हो गई।

अंतिम कुछ शब्द –

आशा करता हूँ आपको “शिवकुमार शर्मा का जीवन परिचय | ShivKumar Sharma Biography in Hindi”वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

ये भी जरूर पढ़ें:

Share on:
Avatar

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

Leave a Comment