पंडित सुख राम का जीवन परिचय | Pandit Sukh Ram Biography in Hindi

पंडित सुख राम का जीवन परिचय, जीवनी, पिता, उम्र, ताजा खबर, बायोग्राफी, सुख राम का निधन, सुख राम को 5 साल की जेल, सुख राम का राजनीतिक करियर, मौत की वजह (Who is Sukh Ram?, Sukh Ram Biography, Father, Net Worth, Sukh Ram in Hindi, Sukh Ram Passed Away, Sukh Ram 5 Years Prison, Sukh Ram Latest News, Sukh Ram Biography in Hindi)

पंडित सुख राम का जन्म 27 जुलाई 1927 को कोतली, हिमाचल प्रदेश में हुआ था। सुख राम जी एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जिन्होंने 1993 से लेकर 1996 तक संचार और प्रौद्योगिकी मंत्री के रूप में कार्य किया।

सुख राम राजनेता अनिल शर्मा के पिता और अभिनेता आयुष शर्मा के दादा है। 11 मई 2022 को सुख राम जी का निधन हो गया, 4 मई को ब्रेन स्ट्रोक के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें AIIMS में शिफ्ट किया गया था।

पंडित सुख राम का जीवन परिचय (Pandit Sukh Ram Biography in Hindi)

Sukh Ram Biography in Hindi
नाम (Name)सुख राम
उपनाम (Nickname)सुख रामी
उम्र (Age)95 वर्ष
जन्म तारीख (Date of birth)27 जुलाई 1927
जन्म स्थान (Place of born )कोटली, हिमाचल प्रदेश
शिक्षा (Education )लॉ स्कूल, दिल्ली
गृहनगर (Hometown)कोटली, हिमाचल प्रदेश
ऊंचाई (Height)ज्ञात नहीं
आँखों का रंग (Eye Color)ज्ञात नहीं
बालो का रंग( Hair Color)ज्ञात नहीं
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
राशि (Zodiac)वृश्चिक राशि
मरने की तारीख (Date of Death)11 मई 2022
मरने का कारण (Death Reason)ब्रेन स्ट्रोक
पेशा (Profession)राजनीतिज्ञ
वैवाहिक स्थिति (Marital Status)विवाहिक

पंडित सुख राम कौन है? (Who is Sukh Ram?)

पंडित सुख राम एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जिन्होंने 1993 से 1996 तक संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री के रूप में कार्य किया। वह हिमाचल प्रदेश के मंडी निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के सदस्य थे। उन्होंने पांच बार विधानसभा चुनाव और तीन बार लोकसभा चुनाव जीता।

पंडित सुख राम प्रारंभिक जीवन, शिक्षा (Pandit Sukh Ram Early Life, Education)

Sukh Ram Biography in Hindi

27 जुलाई 1927 को पंडित सुख राम शर्मा का जन्म को हिमाचल प्रदेश के कोटली गांव के 10 बच्चों के एक गरीब परिवार में हुआ था। सुख राम जी ने दिल्ली के लॉ स्कूल में भाग लिया और 1953 को मंडी जिला कानून अदालतों में एक वकील के रूप में अभ्यास करना शुरू कर दिया था। साल 1962 को वह हिमाचल प्रदेश में प्रादेशिक परिषद के सदस्य बने।

पंडित सुख राम राजनीतिक करियर (Pandit Sukh Ram Political Carrier)

  • सुख राम ने 1963 से 1984 तक मंडी विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया.
  • जिसके बाद वह 1984 को लोकसभा के लिए चुने गए जहां उन्होंने राजीव गांधी सरकार में एक कनिष्ठ मंत्री के रूप में कार्य किया।
  • सुख राम ने रक्षा उत्पादन, योजना और खाद्य और नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री के रूप में अपना योगदान दिया है।
  • 1993 से 1996 तक सुख राम संचार विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में कार्य करते रहें।
  • 1993 में सुख राम ने अपने बेटे के साथ विधानसभा सीट का चुनाव लड़ा जहां उन्हें जीत हासिल हुई।
  • 1996 में सुख राम ने मंडी लोकसभा सीट जीती लेकिन दूरसंचार घोटाले के बाद उन्हें कांग्रेस पार्टी से निकाल दिया गया।
  • कांग्रेस पार्टी से निष्कासित होने के बाद उन्होंने हिमाचल विकास कांग्रेस का गठन किया, जिसके बाद भाजपा पार्टी के साथ गठन कर उन्हें नई सरकार बनाई‌।
  • 1998 में सुख राम ने वापस मंडी सदर से विधानसभा चुनाव लड़ 220000+ मतों के भारी अंतर से जीत हासिल की‌ इसके बाद उनके बड़े बेटे अनिल शर्मा 1998 में राज्यसभा के लिए चुने गए।
  • 2003 के विधानसभा चुनाव में सुख राम ने मंडी विधानसभा सीट बरकरार रखी, लेकिन 2004 के लोकसभा चुनाव के दौरान वह कांग्रेस में फिर शामिल हुए।
  • सुख राम ने 2007 से 2012 तक कांग्रेस का उम्मीदवार के तौर पर मंडी विधानसभा सीट जीती थी।
  • 2017 के बाद बेटे राम शर्मा और पोते आश्रय शर्मा के साथ भाजपा में शामिल हो गए।

सुख राम विवाद (Sukh Ram Controversy)

पीवी नरसिम्हा राव की कैबिनेट के दौरान सुख राम दूरसंचार मंत्री थे। 1996 में केंद्रीय जांच ब्यूरो उनके अधिकारिक आवास में बैग और सूटकेस में छुपाए गए 3.6 करोड़ रुपये नकद की आशंका जताई थी। जिसके बाद 2011 में उन्हें इस घोटाले में भ्रष्टाचार के आरोप में 5 साल की सजा सुनाई गई थी।

सुख राम मौत का कारण (Death Reason of Pandit Sukh Ram)

Sukh Ram Biography in Hindi

11 मई 2022 को सुख राम जी का निधन हो गया, 4 मई को ब्रेन स्ट्रोक के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें AIIMS में शिफ्ट किया गया था।

सुख राम नेट वर्थ (Sukh Ram Net Worth)

पंडित सुख राम की कुल संपत्ति लगभग $5 से $10 मिलियन डॉलर है।

FAQ

पंडित सुख राम कौन है?

पंडित सुख राम एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जिन्होंने 1993 से 1996 तक संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री के रूप में कार्य किया। वह हिमाचल प्रदेश के मंडी निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के सदस्य थे। उन्होंने पांच बार विधानसभा चुनाव और तीन बार लोकसभा चुनाव जीता।

सुख राम की मृत्यु कब हुई थी?

सुख राम जी की मृत्यु 11 मई 2022 को हुई थी।

पंडित सुख राम का जन्म कब हुआ था?

पंडित सुख राम का जन्म 27 जुलाई 1927 को हुआ था।

पंडित सुख राम का जन्म कहां हुआ था?

पंडित सुख राम का जन्म कोतली, हिमाचल प्रदेश में हुआ था।

पंडित सुख राम की मौत कैसे हुई?

11 मई 2022 को सुख राम जी का निधन हो गया, 4 मई को ब्रेन स्ट्रोक के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें AIIMS में शिफ्ट किया गया था।

पंडित सुख राम की कुल संपत्ति कितनी है?

पंडित सुख राम की कुल संपत्ति लगभग $5 से $10 मिलियन डॉलर है।

पंडित सुख राम की उम्र कितनी है?

पंडित सुख राम की उम्र 95 वर्ष है।

अंतिम कुछ शब्द –

आशा करता हूँ आपको “पंडित सुख राम का जीवन परिचय | Pandit Sukh Ram Biography in Hindi”वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

ये भी जरूर पढ़ें:

Share on:
Avatar

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

Leave a Comment